छत्तीसगढ़

National Ramayana Mahotsava: इन देशों का आना लगभग तय, मलेशिया समेत अन्य देशों से लगातार किया जा रहा संपर्क

Raipur News राष्ट्रीय रामायण महोत्सव में विदेशी प्रतिभागियों से बातचीत का सिलसिला लगातार जारी है। संस्कृति विभाग के अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक इंडोनेशिया, कंबोडिया, नेपाल और थाईलैंड से प्रस्तुति के लिए टीमों का आना लगभग तय है। इसके साथ ही मलेशिया सहित अन्य देशों से लगातार संपर्क साधा जा रहा है। रायगढ़ में एक से तीन जून तक होने वाले रामायण महोत्सव के लिए राज्य सरकार ने पूरी ताकत झोंक दी है।

विभागीय अधिकारियों के मुताबिक देशभर में यह अपने आप में अनूठा आयोजन है। इस कार्यक्रम के जरिए छत्तीसगढ़ का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर रोशन होगा साथ ही श्रीराम वनगमन पथ प्रोजेक्ट की प्रसिद्धि भी विदेश तक पहुंचेगी। आयोजन में शामिल होने के लिए अन्य राज्यों को आमंत्रण भेजा जा चुका है। उल्लेखनीय है कि एक से तीन जून तक रामायण मंडलियों की प्रस्तुति के साथ ही देशभर से प्रख्यात गायक और कलाकार रायगढ़ के मंच पर प्रस्तुति देंगे।

राष्ट्रीय रामायण महोत्सव पर भाजपा अध्यक्ष अरुण साव ने कहा है कि रामायण महोत्सव का निमंत्रण मिलेगा तो विचार करेंगे। पत्रकारों ने उनसे सवाल किया कि राष्ट्रीय रामायण महोत्सव में क्या वे जाएंगे। इस पर उन्होंने कहा कि रामायण महोत्सव का निमंत्रण मिलेगा तो इस पर विचार करेंगे। राम के हर कार्यक्रम में हमें आस्था है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष अरुण साव के बयान का व्यंग्यात्मक अंदाजा में जवाब दिया। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक कार्यक्रम है। राष्ट्रीय रामायण महोत्सव का आमंत्रण तो सभी को जाता है। वह शासकीय कार्यक्रम हैं, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अतिरिक्त चाहते हैं तो उनको दो कार्ड भेज देंगे।

रामायण मंडली प्रोत्साहन योजना के तहत संस्कृति विभाग के चिन्हारी पोर्टल में पंजीकृत चयनित 4850 रामायण मानस मंडलियों को दो करोड़ 42 लाख 50 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी गई है। विगत दो वर्षों से राज्य स्तरीय रामायण मंडली मानस गान प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। विजयी दल के लिए प्रोत्साहन राशि का भी प्रावधान किया गया है। संस्कृति विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सरकार की इस पहल से प्राचीन संस्कृति को पुन: स्थापित करने में सफलता हासिल की गई है। रामायण मंडली के बीच मानस प्रतियोगिता बजट प्रदेश के रामायण मंडलियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। प्रतियोगिता में विजेता दल को राज्य स्तरीय कार्यक्रमों में प्रस्तुति देने का भी अवसर मिला।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button