अन्य खबरमनोरंजन

गर्मी और बेतहाशा भीड़ से मुश्किल में नैनीताल

नैनीताल. लगातार चढ़ रहे पारे और पर्यटकों की भीड़ से नैनीताल मुश्किल में है. एक तरफ जून के तापमान ने छह साल का रिकॉर्ड तोड़ा है. वहीं पर्यटक बढ़ने से नैनीताल के पहाड़ी हिस्से में बने पंपों पर पेट्रोल का संकट खड़ा हो गया.

अप्रैल- मई की शुरुआत में बारिश के कारण नैनीताल में पर्यटन सीजन फीका रहा. राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के सहायक अधिकारी पंकज बताते हैं कि पहाड़ों में मौसम साफ होने से तेज धूप पड़ रही है. इससे अधिकतम तापमान बढ़ रहा है.

भीड़ एकाएक बढ़ी मौसम साफ रहने और स्कूलों में छुट्टियों से एकाएक पर्यटकों की संख्या बढ़ गई है. बीते दो दिन जाम के कारण पहाड़ी इलाकों में पेट्रोल के टैंकर भी नहीं पहुंच पाए. इस वजह से सोमवार को ज्योलीकोट, भवाली, मुक्तेश्वर, गरमपानी में पेट्रोल पंप खाली हो गए. भीमताल व नैनीताल के पंपों में भी पेट्रोल की कमी हो गई. खाद्य आपूर्ति अधिकारी मनोज डोभाल का कहना है कि पहाड़ों में दिक्कत आ रही है.

वीकेंड पर दिक्कत ज्यादा वैसे तो नैनीताल और आसपास के इलाकों में रोजाना ही पर्यटकों की भीड़ उमड़ रही है, लेकिन वीकेंड पर पर्यटकों की संख्या दोगुनी हो जाती है. पुलिस के मुताबिक सामान्य दिनों में शहर में आठ से 10 हजार पर्यटक आते हैं जबकि वीकेंड पर यह संख्या 18 से 20 हजार तक पहुंच जाती है.

झील का जलस्तर घटने की आशंका

इस बार नैनीताल में जून का औसत अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. इससे झील का जलस्तर घटने की आशंका बढ़ गई है. मौसम विभाग के अनुसार, इससे पहले वर्ष 2017 में पारा 29.5 डिग्री सेल्सियस रहा था. तब नैनीझील का जलस्तर गेज स्केल पर शून्य तक पहुंच गया था और झील किनारे डेल्टा उभर आए थे.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button