छत्तीसगढ़

टमाटर हुआ लाल… थोक में ही 2000 रुपये कैरेट पहुंचा टमाटर, चिल्हर में मिल रहा 100 रुपये किलो

Raipur News आवक घटने से सप्ताह भर में ही सब्जियों की कीमतों में दोगुनी वृद्धि हो गई है। बीते सप्ताह शनिवार को 50 से 60 रुपये किलो बिक रहा टमाटर मंगलवार को 80 से 100 रुपये किलो पहुंच गया। साथ ही थोक में ही टमाटर 1850 से 2000 रुपये कैरेट बिक रहा है। सब्जी कारोबारियों का कहना है कि टमाटर की आवक काफी घट गई है। टमाटर की आवक इन दिनों मुख्य रूप से बैंगलुरू से हो रही है। टमाटर के साथ ही पांच दिन पहले गोभी भी 50 रुपये किलो तक बिक रही थी। इस प्रकार बीते चार दिनों में ही सब्जियों की कीमतें दोगुनी हो गई है।

मंगलवार को शास्त्री बाजार, गोलबाजार, आमापारा, संतोषीनगर सहित विभिन्न बाजारों में टमाटर 80 से 100 रुपये किलो, गोभी 80 रुपये किलो, भिंडी 40-50 रुपये किलो, बैगन 30 रुपये किलो, लौकी 25 रुपये किलो तक बिकी। इसके साथ ही मिर्ची भी इन दिनों 60 रुपये किलो पहुंच गई है। साथ ही अदरक भी 220 रुपये किलो बिक रहा है। सब्जी कारोबारियों का कहना है कि आवक की तुलना में मांग काफी ज्यादा है, इसका असर ही कीमतों में पड़ रहा है। जब तक आवक में सुधार नहीं होगा, कीमतों में सुधार नहीं होने वाला है।

आलू-प्याज में स्थिरता

आलू-प्याज की कीमतों में लगातार स्थिरता बनी हुई है। आलू-प्याज इन दिनों चिल्हर में 18 से 20 रुपये किलो बिक रहा है। इनकी कीमतों में अभी बढ़ोतरी की संभावना भी नहीं है।

टमाटर की आवक आधे से भी कम हुई

सब्जी कारोबारियों का कहना है कि इन दिनों सब्जियों की आवक पूरी तरह से बाहरी क्षेत्रों पर ही निर्भर हो गई है और स्थानीय आवक समाप्त हो गई है। इसके चलते ही सब्जियों की कीमतों में बढ़ोतरी हो रही है। विशेषकर टमाटर की आवक तो और भी घट गई है। बीते शनिवार तक रोजाना 22 गाड़ियों की आवक हो रही थी,जो अब छह गाड़ियों पर सिमट गई है।

आवक सुधरा तो घटेंगी कीमतें

थोक सब्जी व्यावसायी संघ अध्यक्ष टी श्रीनिवास रेड्डी का कहना है कि आवक में सुधार हुआ तभी सब्जियों की कीमतों में गिरावट आएगी। विशेषकर टमाटर की कीमतों में और तेजी की संभावना बनी हुई है। इन दिनों स्थानीय आवक पूरी तरह से समाप्त हो गई है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button