अन्य खबर

वजन और सेहत दोनों को दुरुस्त रखना है, तो रात का खाना जल्दी खाने की आदत डाल लें

खाने-पीने का ठीक समय न होना कई बीमारियों का कारण बनता है, खासकर उनके लिए जो रात में देर से खाना खाते हैं. आपको बता दें कि देर रात में खाने से भूख के स्तर और भूख को नियंत्रित करने वाले हार्मोन्स लेप्टिन और घ्रेलिन प्रभावित होता है. जिससे कैलोरी बर्न होने और वसा इकट्ठा होने की प्रक्रिया प्रभावित होती है. लेकिन इसके उलट, अगर हम रात का खाना जल्दी खाते हैं, तो हमारा सर्केडियन रिदम रिसेट हो जाता है. दरअसल, सूर्यास्त के बाद मेलेटोनिन हार्मोन, जो आपका स्लीप हार्मोन है आपके रक्त प्रवाह में रिलीज होने लगता है. जब हम सूर्यास्त के बाद भारी खाना खाते हैं, तो इंसुलिन भी रिलीज होता है, जो स्ट्रेस हार्मोन कार्टिसोल के स्तर को बढ़ा देता है. ऐसे में कार्टिसोल और मेलेटोनिन की आपस में प्रतिस्पर्धा होने लगती है, जिससे बहुत सारी हार्मोन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं.

कब खाएं रात का खाना

हॉर्वर्ड मेडिकल स्कूल में हुए एक शोध की मानें तो बेहतर सेहत के लिए रात का खाना शाम पांच से छह के बीच कर लेना चाहिए. इससे न केवल आप कम कैलोरी का सेवन करेंगी, बल्कि भोजन को अच्छी तरह पचाने में कैलोरी भी अधिक मात्रा में बर्न होगी, क्योंकि दिन में हम ज्यादा एक्टिव रहते हैं. रात में हमारा पाचन तंत्र धीमा हो जाता है. इसलिए यह भी ध्यान रखें कि रात का खाना हल्का हो, जिसे पचाना शरीर के लिए आसान हो. आपको यह समझना होगा कि जो भोजन सेवन के 2-3 घंटे में नहीं पचता, वह वसा के रूप में शरीर में स्टोर हो जाता है.

अगर अपनी निजी या पेशेवर व्यस्तता के कारण आपके लिए पांच से छह के बीच डिनर लेना संभव न हो, तो आप रात सात से आठ के बीच रात का खाना खा लें यानी सोने से लगभग तीन घंटे पहले.

न छोड़ें रात का खाना

देर से रात का खाना खाने को लेकर इतनी नकारात्मक बातें सुनने और पढ़ने में आती हैं कि कुछ लोग वजन कम करने और खुद को फिट रखने के लिए रात का खाना ही खाना बंद कर देते हैं. लेकिन आपको समझना चाहिए कि डिनर एक महत्वपूर्ण खाना हैं, क्योंकि फिर शरीर 10-12 घंटे के उपवास पर जाएगा. इसलिए रात का खाना छोड़ना पूरी तरह से गलत है. स्वस्थ्य रहने के लिए रात का खाना हल्का लें. अगर आप किन्हीं वजहों से डिनर जल्दी नहीं ले पाएं, तो न खाने के बजाय डिनर से कार्बोहाइड्रेट को बिल्कुल निकाल दें. दालें, सब्जियां अधिक मात्रा में शामिल कर लें.

क्या हैं फायदे

●नींद की गुणवत्ता में सुधार डिनर जल्दी लेने से रात में अच्छी नींद आएगी और ध्यान केंद्रित करने की क्षमता बढ़ेगी.

●वजन कम करना आसान डिनर जल्दी लेने से पाचन तंत्र को कैलोरी बर्न करने के लिए पर्याप्त समय मिल जाता है व उन हार्मोन्स पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जो पेट भरे होने का अहसास कराते हैं. जब भूख नियंत्रित हो जाती है, तब वजन कम करना आसान होता है.

●भोजन का बेहतर पाचन कब्ज और एसिड रिफ्लक्स से भी आराम मिलता है. आप सुबह जब उठती हैं, तब आपका पेट फूला हुआ नहीं होता. आपकी भूख अधिक संतुलित हो जाती है. शरीर में ऊर्जा का सामान्य स्तर बना रहता है.

Show More

Aaj Tak CG

यह एक प्रादेशिक न्यूज़ पोर्टल हैं, जहां आपको मिलती हैं राजनैतिक, मनोरंजन, खेल -जगत, व्यापार , अंर्राष्ट्रीय, छत्तीसगढ़ , मध्यप्रदेश एवं अन्य राज्यो की विश्वशनीय एवं सबसे प्रथम खबर ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button