तकनीकी

इन 5 वजहों से रेफ्रिजरेटर में होता है Blast, कहीं आप भी तो नहीं करते ये गलतियां

Rerigerator Blast Protection: घर में रखा हुआ फ्रिज सर्दी, गर्मी और बरसात, हर मौसम में काम आता है. इसका इस्तेमाल फ़ूड आइटम्स को लम्बे समय तक फ्रेश रखने में किया जाता है. इससे खाने की बर्बादी नहीं होती है और आपको बार-बार खाना बनाने की जरूरत भी नहीं पड़ती है. वहीं अगर आप खाने के आइटम्स को घर के बाहर रखते हैं तो ये एक से दो दिन में खराब हो जाते हैं. इतना यूजफुल अप्लायंस होने के बावजूद भी लोग इसे लापरवाही से इस्तेमाल करते हैं जिसकी वजह से इसमें ब्लास्ट हो सकता है. आज हम आपको उन गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो रेफ्रिजरेटर में ब्लास्ट की वजह बन सकती हैं. इनसे बच कर आप रेफ्रिजरेटर को बेस्ट कंडीशन में रख सकते हैं.

इन गलतियों से बच कर रेफ्रिजरेटर रहेगा सुरक्षित

1.कभी भी रेफ्रिजरेटर को ऐसी जगह पर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जहां पर बिजली फ्लकचुएट करती है. दरअसल ऐसा होने पर रेफ्रिजरेटर के कंप्रेसर पर दबाव बढ़ सकता है और इसमें धमाका हो सकता है.

2.कई बार ऐसा होता है जब आप रेफ्रिजरेटर में बर्फ जमने देते हैं और यह लगातार जमती हुई चली जाती है ऐसे में आपको कोशिश करनी चाहिए कि रेफ्रिजरेटर को कुछ-कुछ घंटों पर खोलते रहें इससे बर्फ जमने की प्रक्रिया धीमी पड़ जाएगी और आपको उसका तापमान भी बढ़ा देना चाहिए.

3.रेफ्रिजरेटर में अगर किसी तरह की खराबी आती है खास तौर से कंप्रेसर वाले हिस्से में तो आपको इसे कंपनी के ही सर्विस सेंटर पर ले जाना चाहिए क्योंकि कंपनी में ओरिजिनल पार्ट्स की गारंटी दी जाती है. अगर आप लोकल पार्ट्स का इस्तेमाल करते हैं तो इससे कंप्रेसर में धमाका हो सकता है.

4.अगर आप लंबे समय से रेफ्रिजरेटर में कुछ भी सामान नहीं रख रहे हैं लेकिन यह लगातार चल रहा है तो आपको इसे खोलने से पहले या फिर इसमें कोई सामान रखने से पहले इसे पावर ऑफ कर देना चाहिए और तब इसे ऑन करना चाहिए क्योंकि इससे रेफ्रिजरेटर में किसी तरह का धमाका नहीं होगा.

5.कभी भी रेफ्रिजरेटर को इस्तेमाल करने के दौरान इस का तापमान सबसे निम्नतम स्तर पर नहीं लाना चाहिए क्योंकि इसकी वजह से रेफ्रिजरेटर के कंप्रेसर को जरूरत से ज्यादा दबाव डालना पड़ता है और यह काफी गर्म हो जाता है और इसके फटने की संभावना बनी रहती है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button