धर्म एवं साहित्यट्रेंडिंगराष्ट्रीय

राम मंदिर में सभी राज्यों का योगदान

अयोध्या. श्रीरामजन्म भूमि में निर्माणाधीन दिव्य मंदिर को राष्ट्र मंदिर के रूप में स्थापित करने के लिए योजनाबद्ध ढंग से निर्माण का श्रीगणेश किया गया . इसके साथ यह सुनिश्चित किया गया कि देश भर के हर राज्य का योगदान शामिल हो. इसके लिए हर राज्य की प्रचलित व सर्वश्रेष्ठ ऐसी सामग्रियों का चयन किया गया जो मंदिर की दृष्टि से उपयोगी हो.

श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपतराय दावा भी करते हैं कि निर्माणाधीन राम मंदिर में सम्पूर्ण भारत का प्रतिनिधित्व है. मंदिर में अलग-अलग राज्यों से सामग्रियां लाई गयी . यहां विभिन्न राज्यों के कामगार कार्यरत हैं. देश की प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थानों के सर्वश्रेष्ठ इंजीनियर व वैज्ञानिक भी अपना योगदान दे रहे हैं. इनमें आईआईटी चेन्नई, दिल्ली, गुवाहाटी, कानपुर, मुम्बई व एमआईटी सूरत गुजरात व सीबीआरआई रुड़की शामिल हैं.

भूतल की छत का निर्माण पूरा हुआ

पीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपतराय का कहना है कि भूतल की छत का निर्माण कार्य पूरा हो गया है और अब फर्श निर्माण के विषय में इंजीनियर विमर्श कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि मंदिर के भूतल में स्थापित 160 स्तम्भों पर आइकोनोग्राफी के जरिए मूर्तियां उकेरने का काम चल रहा है. आकलन किया गया कि एक कारीगर को एक मूर्ति के निर्माण में 40- 45 दिन का समय लग रहा.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button