अन्य खबरट्रेंडिंग

मशरूम से तैयार दवा मानसिक समस्या के उपचार में कारगर मिली

कई बार लोग मन में वहम पाल लेते हैं कि खाने से उनका वजन बढ़ रहा है और इसलिए वह खाना-पीना छोड़ देते हैं या कम कर देते हैं. इस समस्या को चिकित्सा जगत में एनोरेक्सिया कहा जाता है. हालांकि अमेरिका के सैन डिएगो में एक अध्ययन में पता चला है कि मशरूम से बनी दवा के सेवन से इस मानसिक समस्या का उपचार संभव है.

सैन डिएगो स्थित ईटिंग डिसऑर्डर क्लिनिक के संस्थापक वाल्टर केई ने बताया कि मशरूम में मौजूद पोषक तत्व से बनी साइकेडेलिक दवा से इसका उपचार संभव है. दरअसल मशरूम में सिलोसाइबिन नाम का सक्रिय तत्व होता है, जो दिमाग को एक्टिव करने वाला कंपाउंड है. अध्ययन में दस लोगों को शामिल किया गया. उन्हें संश्लेषित गोली के रूप में मशरूम की अधिकतम खुराक दी गई. इनमें कई उम्मीदवार ऐसे थे, जो काफी वर्षों से एनोरेक्सिया से पीड़ित थे. अध्ययन के दौरान मशरूम से बनी दवा के सेवन से पीड़ितों में खाने-पीने को लेकर विचारों में बदलाव देखा गया.

वैज्ञानिकों ने एक उपकरण भी बनाया एक अध्ययन में बताया गया है कि एनोरेक्सिया से निजान पाने में वाइव ट्रैकर यानी वीआर जैसा उपकरण काफी मददगार हो सकता है. जर्मनी की ट्यूबिनजेन स्थित यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में किए गए अध्ययन में बताया गया है कि वीआर उपकरण एनोरेक्सिया पीड़ितों को राहत दे सकता है. इस उपकरण में एक वीआर हेडसेट होता है. इसकी मदद से पीड़ित अपने स्वस्थ शरीर के वजन को वर्चुअली देख पाता है और उसके दिमाग से वजन ज्यादा होने का डर धीरे-धीरे निकलता जाता है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button