छत्तीसगढ़

तीन माह के बच्चे का शव लेकर खाद्य मंत्री के पास रोते बिलखते पहुंची मां

सीतापुर। आपातकालीन चिकित्सा सेवा मुहैय्या कराने सरकार के सौजन्य से संचालित एंबुलेंस सेवा 108 की लापरवाही से तीन महीने के मासूम बच्चे की मौत हो गई। मासूम की मौत से सदमे में आये परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। इस मामले की जानकारी मिलने के बाद खाद्यमंत्री अमरजीत भगत ने नाराजगी जाहिर करते हुए एम्बुलेंस के चालक को निलंबित करने के निर्देश दिए है।

जानकारी अनुसार विकासखंड बतौली के ग्राम बोदा निवासी अजित लकड़ा के तीन माह के बच्चे की तबीयत खराब रहती थी। जिसके इलाज हेतु उसने पत्नी और बच्चे को अपने ससुराल आदर्शनगर सीतापुर छोड़कर बाहर काम के सिलसिले में गया हुआ था। उसकी पत्नी मायके में रहकर अपने बच्चे का इलाज करा रही थी।इस बीच बुधवार दोपहर को हो रही तेज बारिश के दौरान बच्चे की तबीयत बिगड़ गई। सांस लेने में काफी दिक्कत होने की वजह से बच्चा तड़प रहा था। बच्चे की ये हालत देख माँ ने एम्बुलेंस सेवा 108 को फोन लगाया। फोन लगाने के बाद 108 की तरफ से केवल आश्वासन आया, एम्बुलेंस नही आया।बच्चे को हॉस्पिटल ले जाने एम्बुलेंस की बाट जोहते हुए बच्चे की मां ने कई बार 108 को कॉल किया।लेकिन हर बार केवल आश्वासन देकर काल ड्राप कर दिया गया।इस बीच बच्चे की हालत बिगड़ती देख मां का धैर्य जबाब दे गया।वह बरसते पानी मे सांस लेने में दिक्कत की वजह से तड़पते बच्चे को लेकर आनन फानन में अस्पताल पहुंची।

जांच के दौरान चिकित्सक ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। एम्बुलेंस 108 की लापरवाही के कारण तीन माह के बच्चे की मौत से सदमे में आई मां का रो रोकर बुरा हाल है। बच्चे की मौत के बाद उसका शव लेकर बिलखती हुई मां दौरे पर आए क्षेत्रीय विधायक एवं खाद्यमंत्री अमरजीत भगत से मिलकर उन्हें अपना दुखड़ा सुनाया। गोद में तीन माह के बच्चे का शव लिए विलाप करती मां को देख खाद्यमंत्री भावुक हो गए। उन्होंने तत्काल सहायता राशि के रूप में 25 हजार रुपये मां को देकर घर भिजवाया। इसके बाद फोन के माध्यम से अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए एम्बुलेंस 108 के चालक को निलंबित करने के निर्देश दिए।इधर 108 के चालक की लापरवाही से अपने तीन माह के बच्चे को खोने वाली मां ने भी कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध में बीएमओ डा अमोष किंडो ने बताया कि एम्बुलेंस सेवा 108 में कॉल करने के बाद काल सेंटर से किस चालक को मरीज को रिसीव करने बोला गया था।इस बारे में पता लगाया जाएगा।पता लगते ही उसके विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button